Header Ads

DESH BHAKTI SHAYARI | DESH BHAKTI SHAYARI IN HINDI | SMS-STATUS|

Desh Bhakti Shayari एक कविता का जेनर है जो अपने देश से गहरी मोहब्बत, भक्ति और राष्ट्रभक्ति का इजहार करती है। यह कला का एक रूप है जो सदियों से लोगों को प्रेरित और एकजुट करने के लिए इस्तेमाल किया गया है। भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के क्रांतिकारी कवियों से लेकर आज के समय के सोशल मीडिया कवि तक, देश भक्ति शायरी लोगों के लिए निश्चित रूप से प्रेरणा और उत्साह का एक स्थायी स्रोत रही है। इस ब्लॉग में हम देश भक्ति शायरी की खूबसूरती और शक्ति, इसका समाज पर पड़ने वाले प्रभाव को और हमारे समय के सबसे बड़े कवियों द्वारा लिखी गयी कुछ प्रेरणा देने वाली शायरियों को समझेंगे। तो चलिए, इस सफर में जुड़िए और देश की मोहब्बत को साथ मिलकर मनाएँ।


Desh Bhakti Shayari ek kavita ka genre hai jo apne desh se gehri mohabbat, bhakti aur rashtrabhakti ka izhaar karti hai. Yeh kala ka ek roop hai jo sadiyon se logon ko prerit aur ekjut karne ke liye istemaal kiya gaya hai. Bharatiya swatantrata andolan ke krantikari kaviyon se lekar aaj ke samay ke social media kavi tak, Desh Bhakti Shayari logon ke liye nishchit roop se prerna aur utsah ka ek sthayi srot rahi hai. Is blog mein hum Desh Bhakti Shayari ki khubsoorti aur shakti ko, iska samaj par padne wale prabhav ko aur hamare samay ke sabse bade kaviyon dwara likhi gayi kuchh prerna dene wali Shayaris ko samjhege. Toh chaliye, is safar mein judiye aur Desh ki mohabbat ko saath milkar manaye.


DESH BHAKTI SHAYARI


#1

Watan ke liye jaan bhi kurban hai hamari,

Har kadam par apni mitti ka ehsaas hai hamari,
Dil se jo kahe wohi sach hai,
Aye watan, hum teri zameen ke liye jiyenge aur mareinge!

वतन के लिए जान भी कुर्बान है हमारी,
हर कदम पर अपनी मिट्टी का एहसास है हमारी,
दिल से जो कहे वही सच है,
ऐ वतन, हम तेरी ज़मीन के लिए जियेंगे और मरेंगे!


#2
Mere watan tera naam,
Har saans se hai pyaar,
Jahan bhi jaaoon tera hi aanchal hai,
Tere liye jiyenge, tere liye mareinge,
Desh ke liye jaan bhi kurban hai hamari!

मेरे वतन तेरा नाम,
हर साँस से है प्यार,
जहाँ भी जाऊं तेरा ही आँचल है,
तेरे लिए जियेंगे, तेरे लिए मरेंगे,
देश के लिए जान भी कुर्बान है हमारी!


#3
Na sar jhuka hai kabhi,
Aur na jhukayenge kabhi,
Jo apni aazadi ko apne desh ke liye nahi jhukayenge,
Aye watan, unke liye zindagi bhar ka samaan hai!

ना सर झुका है कभी,
और ना झुकायेंगे कभी,
जो अपनी आज़ादी को अपने देश के लिए नहीं झुकायेंगे,
ऐ वतन, उनके लिए ज़िंदगी भर का सम्मान है!

YOU MAY ALSO LIKE -
1. Uconn vs Gonzaga 
2. Akanksha Dubey Suicidal Murder Mystery 
3. SHAYARI
3.1 MORNING LOVE SHAYARI 
3.2 MOTIVATIONAL SHAYARI   
3.3 SHORT MOTIVATIONAL SHAYARI  
3.4 LOVE SHAYARI  
3.5 LOVE SHAYARI IN GUJRATI 
3.6 BOY ATTITUDE SHAYARI   
3.7 SAD SHAYARI      
3.8 DOSTI SHAYARI  
3.9 BAARISH SHAYARI IN HINDI 

#4
Humne tujhse pyaar kiya,
Tere liye jaan bhi kurban kiya,
Ab kya yeh bhi kam hai?
Aye watan, teri mitti ko humne apna dil diya hai!

हमने तुझसे प्यार किया,
तेरे लिए जान भी कुर्बान किया,
अब क्या यह भी कम है?
ऐ वतन, तेरी मिट्टी को हमने अपना दिल दिया है!


#5
Watan ke liye ho jaan bhi kurban,
Aye mere vatan, teri khushboo meri saansein hai,
Jis tarah se teri dharti pe hum rahte hain,
Aisa hi tera pyaar humare dil mein rahta hai!

वतन के लिए हो जान भी कुर्बान,
ऐ मेरे वतन, तेरी खुशबू मेरी सांसें हैं,
जिस तरह से तेरी धरती पे हम रहते हैं,
ऐसा ही तेरा प्यार हमारे दिल में रहता है!


#6
Jab jab fauji uthte hain,
Tab tab desh ko sambhaalte hain,
Har koi tirange ke liye jaagta hai,
Fauji hamare liye jaan bhi gawaahi dete hain.

जब जब फौजी उठते हैं,
तब तब देश को संभालते हैं,
हर कोई तिरंगे के लिए जागता है,
फौजी हमारे लिए जान भी गवाही देते हैं |


#7
Watan ki mohabbat mein jeena seekh lo,
Watan ke naam par marna seekh lo,
Na tum jeoge na hum jiyenge,
Magar desh ke liye har dam tayyar rehna seekh lo.

वतन की मोहब्बत में जीना सीख लो,
वतन के नाम पर मरना सीख लो,
ना तुम जीओगे ना हम जीएंगे,
मगर देश के लिए हर दम तैयार रहना सीख लो।


#8
Tiranga fahraane ka maza hi kuch aur hai,
Jiske haath mein desh ka jhanda hota hai,
Wo hamesha se hi jaanta hai watan ka mahatv,
Isiliye use hamari jaan se bhi pyaar hota hai.

तिरंगा फहराने का मजा ही कुछ और है,
जिसके हाथ में देश का झंडा होता है,
वो हमेशा से ही जानता है वतन का महत्व,
इसीलिए उसे हमारी जान से भी प्यार होता है।


#9
Jab tak rahega samman desh ka,
Tab tak rahega naam desh ka,
Hum sabka yahi kaarya hai,
Desh ki suraksha aur samriddhi ka sanchalan karna hai.

जब तक रहेगा सम्मान देश का,
तब तक रहेगा नाम देश का,
हम सभी का यही कार्य है,
देश की सुरक्षा और समृद्धि का संचालन करना है।


#10
Mere desh ki mitti se bana hai,
Mere desh ki dharti se pala hai,
Mere desh ka jazbaa meri jaan hai,
Mera desh mera imaan hai.

मेरे देश की मिट्टी से बना है,
मेरे देश की धरती से पाला है,
मेरे देश का जज्बा मेरी जान है,
मेरा देश मेरा ईमान है।


#11
Desh ke liye kuch kar dikhane ki tamanna,
Dil mei jazbaa, kadmon mei dum,
Des bhakti ke is safar ko,
Koi bhi mushkil rok nahi sakta.

देश के लिए कुछ कर दिखाने की तमन्ना,
दिल में जज्बा, कदमों में दम,
देश भक्ति के इस सफर को,
कोई भी मुश्किल रोक नहीं सकता।


#12
Watan ke liye kurbaan hai,
Jaan bhi maang lo, jaan bhi de do,
Desh bhakti ke is jazbaa ko,
Koi bhi andhera rok nahi sakta.

वतन के लिए कुर्बान है,
जान भी मांग लो, जान भी दे दो,
देश भक्ति के इस जज्बे को,
कोई भी अंधेरा रोक नहीं सकता।


#13
Jis desh ke liye marte hai,
Us desh ke liye jiya karte hai,
Desh bhakti ke is jazbaa ko,
Koi bhi shikanjaa nahi rok sakta.

जिस देश के लिए मरते हैं,
उस देश के लिए जीया करते हैं,
देश भक्ति के इस जज्बे को,
कोई भी शिकंजा नहीं रोक सकता।


#14
Hum desh ke liye kuch kar dikhayenge,
Jitna desh ke liye kar sakte hai,
Desh bhakti ke is jazbaa ko,
Koi bhi qaidi nahi rok sakta.

हम देश के लिए कुछ कर दिखाएंगे,
जितना देश के लिए कर सकते हैं,
देश भक्ति के इस जज्बे को,
कोई भी कैदी नहीं रोक सकता।


#15
Watan ke liye jeevan kurbaan hai,
Dil mei jazbaa, kadmon mei dum,
Desh bhakti ke is safar ko,
Koi bhi mushkil rok nahi sakta.

वतन के लिए जीवन कुर्बान है,
दिल में जज्बा, कदमों में दम,
देश भक्ति के इस सफर को,
कोई भी मुश्किल रोक नहीं सकता।


#16
Desh ke liye kuch bhi karein,
Desh bhakti ke is jazbaa ko,
Koi bhi andhera rok nahi sakta.

देश के लिए कुछ भी करें,
देश भक्ति के इस जज्बे को,
कोई भी अंधेरा रोक नहीं सकता।


#17
Jis desh ke liye marte hai,
Us desh ke liye jiya karte hai,
Desh bhakti ke is jazbaa ko,
Koi bhi shikanjaa nahi rok sakta.

जिस देश के लिए मरते हैं,
उस देश के लिए जीया करते हैं,
देश भक्ति के इस जज्बे को,
कोई भी शिकंजा नहीं रोक सकता।


#18
Hum desh ke liye kuch kar dikhayenge,
Jitna desh ke liye kar sakte hai,
Desh bhakti ke is jazbaa ko,
Koi bhi qaidi nahi rok sakta.

हम देश के लिए कुछ कर दिखाएंगे,
जितना देश के लिए कर सकते हैं,
देश भक्ति के इस जज्बे को,
कोई भी कैदी नहीं रोक सकता।


#19
Watan ke liye jeevan kurbaan hai,
Dil mei jazbaa, kadmon mei dum,
Desh bhakti ke is safar ko,
Koi bhi mushkil rok nahi sakta.

वतन के लिए जीवन कुर्बान है,
दिल में जज्बा, कदमों में दम,
देश भक्ति के इस सफ़र को,
कोई भी मुश्किल रोक नहीं सकता।


#20
Watan ke liye jaan de denge, kabhi na darenge,
Watan ke liye har qadam par ho jayenge taiyar,
Desh bhakti ka jazba hai dil mein bhar ke rakha,
Iske liye apni zindagi ko hazar baar bhi qurban kar denge.

वतन के लिए जान दे देंगे, कभी ना डरेंगे,
वतन के लिए हर कदम पर हो जाएंगे तैयार,
देश भक्ति का जजबा है दिल में भर के रखा,
इसके लिए अपनी जिंदगी को हजार बार भी कुर्बान कर देंगे।


#21
Tere liye mitti ki khushbu, tere liye har ek hawa,
Tere liye har ek katra, tere liye har ek dua,
Hum tere liye jaan bhi de denge, watan hai mera pyara,
Iski raksha ke liye humesha taiyar hai har ek humsafar.

तेरे लिए मिट्टी की खुशबू, तेरे लिए हर एक हवा,
तेरे लिए हर एक कतरा, तेरे लिए हर एक दुआ,
हम तेरे लिए जान भी दे देंगे, वतन है मेरा प्यारा,
इसकी रक्षा के लिए हमेशा तैयार है हर एक हमसफ़र।


#22
Aye mere watan ke logo, zara aankh mein bhar lo paani,
Jo shaheed hue hain unki, zara yaad karo kurbani,
Jo laut ke ghar naa aaye, unki yaad karo kurbani,
Hum bhoolenge unhe kabhi, aye mere watan ke logo.

ऐ मेरे वतन के लोगों, ज़रा आँख में भर लो पानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो कुर्बानी,
जो लौट के घर न आए, उनकी याद करो कुर्बानी,
हम भूलेंगे उन्हें कभी, ऐ मेरे वतन के लोगों।


#23
Hamein desh ke liye larna hai, hamein desh ke liye jeena hai,
Watan se mohabbat hai humein, iske liye apni jaan bhi de denge,
Jis desh ki mitti mein janm liya hai, usi desh ki mitti mein sona hai,
Desh bhakti ka ye jazba hai, jo humare dil mein chadha hai.

हमें देश के लिए लड़ना है, हमें देश के लिए जीना है,
वतन से मोहब्बत है हमें, इसके लिए अपनी जान भी दे देंगे,
जिस देश की मिट्टी में जन्म लिया है, उसी देश की मिट्टी में सोना है,
देश भक्ति का ये जजबा है, जो हमारे दिल में चढ़ा है।


#24
Zindagi bhar desh ke liye lade, zindagi bhar desh ke liye mare,
Watan ki mohabbat hai humein, iske liye har kurbani denge,
Agar koi aankh uthakar poochhega, kya kiya hai tumne desh ke liye,
To hum uss aankh mein dekh kar bata denge, kya nahi kiya hai humne desh ke liye.

ज़िन्दगी भर देश के लिए लड़े, ज़िन्दगी भर देश के लिए मरे,
वतन की मोहब्बत है हमें, इसके लिए हर कुर्बानी देंगे,
अगर कोई आँख उठाकर पूछेगा, क्या किया है तुमने देश के लिए,
तो हम उस आँख में देख कर बता देंगे, क्या नहीं किया है हमने देश के लिए।


#25
Aye mere pyare watan, tujhpe dil qurbaan,
Tere liye hum hain jiye, tere liye hum hain maare,
Tere liye humne jaan bhi de di, tere liye humne khud ko bhi mita di,
Desh bhakti ka jazba hai, jise hamare dil mein basa di.

ऐ मेरे प्यारे वतन, तुझपे दिल कुर्बान,
तेरे लिए हम हैं जिए, तेरे लिए हम हैं मारे,
तेरे लिए हमने जान भी दे दी, तेरे लिए हमने खुद को भी मिटा दी,
देश भक्ति का जज्बा है, जिसे हमारे दिल में बसा दी।


#26
Jis desh ke liye jaan de di, uss desh ke liye roye nahi,
Jis desh ke liye lade, uss desh ke liye har mushkil seh li,
Watan ki mohabbat hai humein, iske liye har takleef sahan karenge,
Iske liye hum hamesha taiyar hai, apni jaan bhi de denge.

जिस देश के लिए जान दे दी, उस देश के लिए रोए नहीं,
जिस देश के लिए लड़े, उस देश के लिए हर मुश्किल सह ली,
वतन की मोहब्बत है हमें, इसके लिए हर तकलीफ सहेंगे,
इसके लिए हम हमेशा तैयार हैं, अपनी जान भी दे देंगे।


#27
Watan ke liye jaan de denge, yeh to hamara farz hai,
Watan ke liye hume larna hai, yeh to hamari aadat hai,
Watan se pyaar hai humein, iske liye har mushkil seh lenge,
Desh bhakti ka jazba hai, jise humare dil mein basa lenge.

वतन के लिए जान दे देंगे, यह तो हमारा फर्ज है,
वतन के लिए हमें लड़ना है, यह तो हमारी आदत है,
वतन से प्यार है हमें, इसके लिए हर मुश्किल सह लेंगे,
देश भक्ति का जज़्बा है, जिसे हमारे दिल में बसा लेंगे।


#28
Watan ki mitti se hi toh, humare sapne bante hai,
Watan ki mohabbat se hi toh, humare dil jalte hai,
Watan ke liye jaan de denge, yeh toh hamara farz hai,
Desh bhakti ka jazba hai, jise humare dil mein basa hai.

वतन की मिट्टी से ही तो, हमारे सपने बनते हैं,
वतन की मोहब्बत से ही तो, हमारे दिल जलते हैं,
वतन के लिए जान दे देंगे, यह तो हमारा फर्ज है,
देश भक्ति का जज़्बा है, जिसे हमारे दिल में बसा लेंगे।


#29
Aye mere watan ke logo, zara aankh mein bhar lo paani,
Jo shaheed hue hain unki, zara yaad karo kurbani,
Watan ke liye jaan de denge, yeh toh hamara maksad hai,
Desh bhakti ka jazba hai, jise humare dil mein basa hai.

ऐ मेरे वतन के लोगों, ज़रा आँख में भर लो पानी,
जो शहीद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो कुर्बानी,
वतन के लिए जान दे देंगे, यह तो हमारा मक़सद है,
देश भक्ति का जज़्बा है, जिसे हमारे दिल में बसा लेंगे।











No comments

Powered by Blogger.